सोमवार, 25 मई 2015

विदेश की नौकरी छोड़ शुरू की अपनी वेबसाइट, आज है करोड़ों की मालकिन

1



नई दिल्ली. भारत में ऑनलाइन बिजनेस का चलन तेजी से बढ़ रहा है। खासकर नई पीढ़ी का इस ओर काफी रुझान है। एक ऑनलाइन सर्वे के मुताबिक पिछले दो सालों में ऐसा करने वाले मेल-फीमेल की संख्या में 60 फीसदी इजाफा हुआ है। ऐसी ही एक कहानी है अनिशा सिंह की, जिन्होंने विदेशी में नौकरी छोड़ी और भारत आकर अपना बिजनेस शुरू किया। सर्वे के आधार पर हम आपको बता रहे हैं ऐसी 5 फीमेल के बारे में, जिन्होंने अपना बिजनेस शुरू किया और आज बेहद सफल हैं।
अनिशा सिंह, फाउंडर और सीईओ (Mydala.com)
अनिशा सिंह आज करोड़ों की मालकिन हैं। अनिशा ने विदेश की नौकरी को छोड़कर 2009 में अपना बिजनेस शुरू किया था। अपने करियर की शुरुआत में सेंट्रा सॉफ्टवेयर, बोस्टन में काम किया। उन्होंने ऐसी महिलाओं के लिए फंड की भी व्यवस्था की, जिनके पास इनोवेटिव आइडिया थे और जो उद्यमी बनाना चाहती थीं। भारत आने से पहले अनिशा किनिस सॉफ्टवेयर शॉल्यूशंस में नौकरी कर चुकी हैं। यह कंपनी ई-लर्निंग शॉल्यूशंस देती थी, जो कि फॉर्च्यून की 500 बेस्ट कंपनियों में शामिल रही। इसके बाद अनिशा सिंह भारत वापस लौटी और साल 2009 में Mydala.comनाम से वेबसाइट बनाई। आज ये वेबसाइट भारत की सबसे बड़ी वेबसाइट है, जो गिप्ट कूपन उपलब्ध कराती है। अनिशा के पास पॉलिटिकल कम्युनिकेशन में मास्टर डिग्री है। इसके अलावा उन्होंने अमेरिकन यूनिवर्सिटी, वाशिंगटन से इन्फॉर्मेशन सिस्टम में एमबीए किया है।
मिल चुके हैं दो अवार्ड
अनिशा सिंह को वुमन लीडरशिप अवार्ड(2014) और लीडिंग वुमन इन रिटेल(2012) के अवार्ड से नवाजा जा चुका है।
क्या है खासियत
फाउंडर मेंबरः अनिशा सिंह, अर्जुन बासु, आशीष भटनागर
मर्चेंट्स (व्यापारी)- दो लाख से ज्यादा
यूनीक विजिटर्सः 5 करोड़
रजिस्टर्ड यूजर्सः 2.5 करोड़
कस्टमर ट्रांजैक्शन प्रतिमाहः 40 लाख
फंडिंगः 43 करोड़ 78 लाख रुपए
इतने का बेचते हैं सामानः 300 करोड़ प्रतिमाह







2.......


पंखुरी श्रीवास्तव, को-फाउंडर एंड सीएमओ (GrabHouse.com)
पंखुरी श्रीवास्तव को पढ़ने, डांस करने का शौक है। पंखुरी भोला यूनिवर्सिटी से कम्प्यूटर साइंस में इंजीनियरिंग कर चुकी हैं। पंखुरी को टेक फॉर इंडिया में फैलोशिप भी मिल चुकी है। वह साल 2010 में मुंबई आई थीं। यहां आकर लगा कि घर ढूंढना कितना मुश्किल काम है। इतना ही नहीं घर ढूंढने के एवज में ब्रोकरेज के रूप में भी अच्छा-खासा पैसा खर्च करना पड़ता है। इसके बाद उन्हें ऐसी वेबसाइट शुरू करने का आइडिया आया, जिसके जरिए लोग अपने लिए अच्छा घर ढूंढ सकें। खासकर स्टूडेंट्स, जिन्हें बजट घर की जरूरत ज्यादा होती है। इसके बाद उन्होंने भारत का फ्री रूममेट सर्च इंजन (GrabHouse.com) शुरू किया।






3......




नेहा बेहानी, को-फाउंडर (Moojic.com)
ऑनलाइन म्यूजिक सुनाने वाली वेबसाइट मूजिक डॉट कॉम के पीछे दो लोगों का दिमाग है। एक हैं को-फाउंडर नेहा बिहानी और को-फाउंडर कुमारन महेन्द्रम। नेहा शुरू से ही उद्यमी बनना चाहती थीं। यही वजह है कि उन्होंने अपनी जॉब छोड़ दी। नेहा के दिमाग में खास करने का आइडिया था और इसी आइडिया के साथ वह कुमारन से मिलीं। नेहा लोगों को एक ऐसा पोर्टल उपलब्ध करवाना चाहती थीं, जहां आसानी से म्यूजिक सुना जा सके। उनकी वेबसाइट पर कोई भी प्ले लिस्ट बना सकता है। मूजिक डॉट कॉम अभी सर्वाधिक पसंद किए जाने वाली वेबसाइटों में से एक है।


4......



गुरलीन कौर, सीईओ, हरी पत्ती
गुरलीन ने गाजियाबाद के इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट टेक्नोलॉजी से फाइनेंस की पढ़ाई की है। इसके अलावा उनके पास एसएस कॉलेज ऑफ बिजनेस स्टडीज की BFIA (Bachelor in Financial and Investment Analysis) की डिग्री भी है। कॉलेज के दिनों में ही उनके दिमाग में बिजनेस शुरू करने का आइडिया आया था। कॉलेज छोड़ने के बाद उन्होने ‘हरी पत्ती’ नाम से वेबसाइट शुरू की। उनकी कंपनी लोगों को इन्वेस्टमेंट के टिप्स देती है। फाइनेंशियल सपोर्ट के साथ ही शॉर्ट और लॉग टर्म के गोल अचीव करने के तरीके भी बताती है। गुरलीन की अंग्रेजी बेहद अच्छी है। इसके साथ ही उन्हें ब्लॉग लिखना पसंद है। वह अपने ब्लॉग पर हर वह चीज लिखती हैं, जिसे वह जीवन से सीखती हैं।


5.......


नीरू शर्मा, को-फाउंडर (Infibeam.com)
नीरू शर्मा इन्फीबीम कंपनी की को-फाउंडर और कॉरपोरेट एंड बिजनेस डेवलपमेंट हेड हैं। ये वेबसाइट भारत की लीडिंग ई-कॉमर्स वेबसाइट में से एक है। इन्फीबीम ने कुछ दिनों पहले पिक्सक्वेयर डॉट कॉम (Picsquare.com) का अधिग्रहण किया है। पिक्सक्वेयर डॉट कॉम एक फोटो प्रिंटिंग वेबसाइट थी। इससे पहले नीरू की कंपनी ने पांच मिलियन डॉलर में डिजिटल मार्केटिंग कंपनी ओडिग्मा (Odigma) का अधिग्रहण किया था। नीरू इससे पहले अमेजन डॉट कॉम, यूएसए में बतौर कॉरपोरेट डेवलपमेंट और मिडल रिटेल विभाग में काम कर चुकी है। जहां तक पढ़ाई की बात है तो, नीरू के कम्प्यूटर साइंस में बैचलर्स किया है। इस वेबसाइट को शुरू करने से पहले भी वह कई प्रोजेक्ट्स पर काम कर चुकी हैं।




http://money.bhaskar.com/news/MON-STA-DELH-success-story-of-indian-women-entrepreneurs-latest-4996838-PHO.html